शिक्षकों की सेवा समाप्त कर आरोप पत्र जारी करें- कलेक्टर डॉ.शर्मा

दमोह : meeting

बालिका छात्रावास सहित अन्य छात्रावासों में पलंग व्यवस्था सुनिश्चित कराये। पलंगों की कमी नहीं रहनी चाहिये। लंबित जाति प्रमाण पत्रों का निराकरण 31 दिसम्बर तक करना सुनिश्चित करें। इस आशय के निर्देश आज कलेक्टर डॉ. श्रीनिवास शर्मा ने साप्ताहिक समय सीमा बैठक में दिये। बैठक में सीईओ जिला पंचायत डॉ. जगदीश जटिया खासतौर पर मौजूद थे। जिला पंचायत कार्यालय को उत्कृष्ट प्रबंधन के लिये आईएसओ 9001:2008 सर्टिफिकेट मिलने पर कलेक्टर ने प्रमाण पत्र भेंट करते हुये सीईओ जिला पंचायत डॉ. जगदीश जटिया को बधाई दी।

कलेक्टर डॉ. श्रीनिवास शर्मा ने शिक्षा अधिकारी से कहा भुगतान क्यों नहीं हो रहा है क्या समस्या है स्पष्ट बतायें। बजट की कोई समस्या है तो मुझे बताएं। उन्होंने कार्यालय में शिक्षकों के अटैचमेंट समाप्त करने की बात कही। उन्होंने कहा धनेटा मॉल में आकस्मिक भ्रमण के दौरान दो शिक्षकों के अवकाश का आवेदन में डेट डाली गई थी और पंजी में अवकाश इंद्राज भी नहीं था। कलेक्टर ने दोनों शिक्षकों की सेवा समाप्त कर आरोप पत्र जारी करने की कार्रवाई के निर्देश दिये।

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान सीएमएचओ ने बताया अस्पताल में लाईट नहीं रहने पर जनरेटर का उपयोग किया जाता है। सभी जनरेटर व्यवस्थित हैं। टायलेट पर्याप्त हैं इसके अलावा सुलभ शौचालय भी परिसर में बना हुआ है। कलेक्टर ने नगर की नालियों, अस्थायी दुकानों की व्यवस्था, बस स्टैण्ड से अतिक्रमण हटाने मुख्य नगर पालिका अधिकारी को निर्देश दिये। उन्होंने कहा कच्चे शौचालय जहां भी हों उन्हें तोड़े। उन्होंने एवरेस्ट लॉज के समीप अतिक्रमण हटाने के भी निर्देश दिये।

उन्होंने श्रम विभाग के अधिकारी को निर्देश दिये कि नगर पंचायत पथरिया को 2 लाख रूपये और दमोह जनपद को 25 हजार रूपये की राशि उपलब्ध करायें। कलेक्टर ने वन विभाग की समीक्षा के दौरान कहा पट्टा वितरण, सुअर द्वारा फसल नुकसानी के मामले देख लें प्रकरण पर कार्यवाही सुनिश्चित करें।

कलेक्टर पहुंचे जिला चिकित्सालय, स्वास्थ्य संबधी ली जानकारी

hosदमोह :< जिले के पटेरा तहसील अंतर्गत ग्राम नीमखेड़ा में 25 दिसम्बर की शाम 7 बजे एक ही परिवार के सदस्यों द्वारा भजिया खाने से 5 लोगों की मृत्यु हो गई तथा 4 महिलाएं इलाज के लिये भर्ती हैं। चिकित्सालय में कुर्मी पटैल परिवार की गीता पति लटोरी उम्र 35 वर्ष, चंदाबाई पति मकुंदी 40 वर्ष, माया पति हरिदास 42 वर्ष तथा बड़ी बहु पति मोहन 70 वर्ष भर्ती है जिनका इलाज चल रहा है। अब स्थिति सामान्य है। आज सुबह कलेक्टर डॉ.श्रीनिवास शर्मा इन परिवार के सदस्यों से मिलने जिला चिकित्सालय पहुंचे और उन्होंने परिजनों से स्थास्थ्य संबंधी जानकारी ली। परिवार की महिला गीता ने कलेक्टर को बताया साहब मेरा पूरा परिवार उजड़ गया है, कल रात की घटना है मैने भजिया घर में बनाये थे और अपने पति लटोरी सहित परिवार के सदस्यों को खाने दिये। इसके बाद ही सबकी तबियत खराब हुई है। पूंछने पर बताया घर के चना में पाउडर मिलाकर रखा था। चना को दो बार धोंये के बाद पिसाये थे। गीता ने बताया इलाज ठीक चल रहा है, दवाईयां मिल रही हैं, कोई परेशानी नहीं है। गीता ने बताया पटेरा अस्पताल में कोई डाक्टर नहीं मिलने पर दमोह अस्पताल में भर्ती हुये हैं। कलेक्टर ने एसडीएम हटा नंदलाल सामरथ को जाँच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने सीएमएच डॉ. ए.के.बड़ौनिया से कहा है पटेरा अस्पताल में घटना के समय कोई डाक्टर नहीं था इसकी जॉच कर तत्काल बतायें। उन्होंने कहा शासन की योजनाओं के तहत जो सुविधाएं प्राप्त होती हैं वह इनको उपलब्ध कराई जायेगी। इस दौरान पुलिस अधीक्षक तिलक सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अरविंद दुबे, एसडीएम राकेश कुशरे भी मौजूद थे। घटना में इनकी हुई मृत्यु मृतकों में लटोरी पिता मोहन पटैल 45 वर्ष, दीक्षा पिता लटोरी 12 वर्ष, काजल पिता लटोरी 8 वर्ष, हल्लीबाई पिता लटोरी 6 वर्ष तथा पुष्पेन्द्र पिता लटोरी 4 वर्ष शामिल हैं।

भजिया खाने से गई एक ही परिवार की ५ लोगो की मौत

bhajiyaदमोह जिले के पटेरा जनपद के नीमखेडा गाव में जहरीला खाना खाने से एक ही परिवार की ५ लोगो की मौत हो गई जिनमे पिता सहित ३ बच्ची व् १ बच्चा सहित कुल ५ लोगो की मौत हुई है व् २ की हालत घम्भीर बनी हुई है नीमखेडा गाव के लटोरी पटेल के यहाँ परिवार में विषाक्त बेसन के भजिये बनने से घटना को होना बताया गया है
रात को भजिया खाने के बाद से ही सभी की तबियत बिगड़ने लगी थी जिनको नजदीकी अस्पताल ले जाया गया परन्तु ५ लोगो ने ही दम तोड़ दिया , विषाक्त बेसन के भजिये बनने से ही घटना को अभी जोड़ा जा रहा है, इस घटना से क्षेत्र में सनसनी फ़ैल गई है वही पुलिस जाँच करने में जुट गई है व् शवो को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है

सिचाई के लिय नल कूप कराया निकल निकल रहीं आग की लपटे

aag
विदिशा/ग्यारसपुर। ग्राम मानौरा में पाँच दिन पहले शुक्रवार को कराए गए बोर के गड्ढे में से शनिवार को अचानक आग निकलना शुरू हो गई। आग निकलने की जानकारी जैसे ही ग्रामीणों को लगी तो उसे देखने के लिए लोगों की भीड़ जमा होने लगी। प्रशासन और इंडियन आयल की टीम मौके पर पहुंची और ट्यूबवेल का निरीक्षण किया। प्रारंभिक जांच के अनुसार बोर से निकलने वाली गैस मीथेन हो सकती है।
मानौरा के किसान राजेश साहू ने एक दिन पहले शुक्रवार को अपने खेत में बोर कराया था। इसमें140 फीट गहराई पर पानी निकल आया था, लेकिन पानी कम होने पर उन्होंने बोर की गहराई 425 फीट करा दी। जब इस बोर में लोहे की केसिंग डाली जा रही थी तब बेल्डिंग के दौरान चिंगारियों ने आग पकड़ ली। बोरिंग मशीन चला रहे कमर्चारियों ने साहू से कहा कि इस बोर में कुछ गड़बड़ है। इसलिए लोहे के बजाय प्लास्टिक की केसिंग डाली जाए। जब प्लास्टिक की केसिंग डाली गई तो वह भी गैस रिसाव के कारण ठीक से नहीं डल पा रही थी। बोरिंग में गड़बड़ स्थिति को देखकर मशीन आपरेटर मशीन सहित वहां से चले गए। गांव के ही एक व्यक्ति ने बोरिंग के पास माचिस जलाई तो आग भभक उठी। ग्रामीणों ने जैसे तैसे करके बोरिंग के ऊपर एक तगाड़ी ढकी और गीली मिट्टी से उसे ढक दिया।
घास डालते ही उठती हैं लपटें
शनिवार को इसकी जानकारी लगते ही बड़ी संख्या में लोग खेत में बने ट्यूबवेल को देखने पहुंचे। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि ट्यूबवेल के मुंह के सामने घास या कचरा डालने पर आग की लपटें निकलना शुरू हो जाती हैं। लोगों का कहना था कि इस ट्यूबवेल से निकलने वाली आग काफी तीव्र होती है, जिसका प्रभाव काफी दूर तक महसूस किया जा रहा है।
इंडियन आयल टीम ने लिया जायजा
तहसीलदार बृजेश सक्सेना ने बताया कि बोरिंग से आग निकलने की सूचना मिलने पर प्रशासन की टीम मौके पर गई। माइनिंग इंस्पेक्टर मौके पर पहुंची और इंडियन आयल की टीम को मौके पर बुलाया गया। तहसीलदार सक्सेना के अनुसार प्रारंभिक जांच में बोर से मीथेन गैस के रिसाव की पुष्टि हुई है। इसकी उपलब्धता का पता लगाने के लिए रविवार को बीना रिफायनरी की टीम को भी बुलाया जा रहा है(महराज सिंह )

फर्जी रजिस्ट्री के मामले न्यायालय में निपटाये जाते हैं-कलेक्टर डॉ.शर्मा

janदमोह :
फर्जी रजिस्ट्री के मामले न्यायालय में निपटाये जाते हैं, जनसुनवाई में नहीं, इसके अधिकार न्यायालय को हैं। यह बात आज जिले के दूर दराज क्षेत्रों से आने वाले आम नागरिकों की व्यक्तिगत एवं सार्वजनिक समस्याओं से संबंधित आवेदनों पर सुनवाई करते हुये कलेक्टर डॉ.श्रीनिवास शर्मा ने कही। इस मौके पर संयुक्त कलेक्टर नंदा कुशरे ने भी अपनी सहभागिता निभाई। आज की जनसुनवाई में 102 आवेदनों पर कलेक्टर ने सुनवाई की, जनसुनवाई निर्धारित समय से करीब 1 घण्टा 45 मिनिट अधिक चली।

आज सुनवाई में एक आवेदिका ने कहा सर आगे से ध्यान रखेंगे, अपने बच्चों को समिति परिवार रखने की सलाह देंगे, हमने देख लिया हम कितने परेशान है। यह बात आवेदिका ने कलेक्टर डॉ.शर्मा द्वारा अधिक बच्चों पर दी गई सलाह उपरांत कही। आवेदिका अपने पति की मृत्यु एक्सीडेट से होने उपरांत शासन से प्रदाय की जाने वाली आर्थिक सहायता राशि के लिये आवेदन करने आई थी। आवेदिका के चार बच्चे हैं। कलेक्टर ने प्रकरण को गंभीरता से लिया, मामले को टी.एल. के अलावा 15 दिवस में निराकरण करने की बात कही। उन्होंने उपसंचालक पंचायत एवं समाज सेवा को परिवार पेंशन का प्रकरण बनाने, सीईओ जिला पंचायत को परिवार सहायता तत्काल स्वीकृत करने तथा तहसीलदार दमोह को वाहन दुर्घटना के तहत प्रकरण बनाकर नियमानुसार राशि स्वीकृत कराने के निर्देश दिये।

तहसील बटियागढ़ साकिन मगरोन निवासी आवेदक ने ग्राम पंचायत सगरोन के सचिव एवं सरपंच द्वारा राशि का गबन करने के संबंध में आवेदन प्रस्तुत करने पर कलेक्टर ने प्रकरण टी.एल.मीटिंग के साथ एसडीओ, एसडीएम पथरिया से 15 दिवस में जाँच कराकर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने निर्देश दिये।

जनसुनवाई में एक आवेदक ने कहा वह फल-फूल की दुकान चलाता था कई दिनों से साहूकार परेशान कर रहे हैं, दुकान अतिक्रमण में टूट गई है, मैं बहुत परेशान हूं, आवेदक की परेशानी सुनकर कलेक्टर ने बिना लायसेंस बाले साहूकारों के खिलाफ कार्यवाही करने के लिये पुलिस अधीक्षक को अर्धशासकीय पत्र लिखने के निर्देश दिये।

ग्राम केवलारी से सतपारा सैर डेढ कि.मी. का मार्ग एवं वार्ड क्रमांक 9 एवं 10 में 200 मीटर का रास्ता सी.सी. मय पुलिया के स्वीकृत कर प्रारंभ कराने जाये के लिये ग्राम के करीब 20 व्यक्तियों ने हस्ताक्षरयुक्त आवेदन कलेक्टर के समक्ष प्रस्तुत किया।

नगर पालिका दमोह के टाऊन हाल में गुमटी रखकर दुकान लगा रहे दुकानदारों ने मालियों के साथ व्यवस्थित शेड बनवाकर जगह देने के लिये आवेदन प्रस्तुत किया। तहसील दमोह साकिन करैया भदौली निवासी एक आवेदक ने शिकायत दर्ज कराई कि हल्का में पदस्थ पटवारी द्वारा पैसे की मांग की जा रही है, पटवारी एवं बाबू के विरूद्ध कार्यवाही करने एवं बही बनवाने हेतु आवेदन प्रस्तुत किया। तहसील जबेरा साकिन मुवार निवासी आवेदक ने कृषक को अनुदान दिलाने, जबेरा निवासी एक आवेदक द्वारा पिता की मृत्यु उपरांत आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने, साकिन ग्राम गाड़ाघाट निवासी दो आवेदिका ने बड़े घास की पट्टे वाली भूमि पर सीमांकन उपरांत कब्जा दिलाने, तहसील पथरिया साकिन सदगुवां निवासी आवेदक ने सूखा के कारण फसल नष्ट होने पर मुआवजा दिलाने, तहसील दमोह साकिन अमखिरिया निवासी दो आवेदिकाओं ने मुआवजा राशि की सूची में नाम दर्ज कराने, तहसील दमोह थाना तेजगढ़ साकिन मुड़ेरी हिनौती निवासी आवेदक ने गिरवी रखी विद्युत मोटर दिलाने तथा साकिन तेजगढ़ निवासी एक आवेदक ने प.ह.नं. 4 मौजा तेजगढ़ खसरा नम्बर 107 का सुधार पटवारी द्वारा कराने आवेदन प्रस्तुत किये गये।

कलेक्टर डॉ. श्रीनिवास शर्मा ने आवेदनों पर कार्यवाही करने के लिये संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये है कि वे स्वयं मामलों को देखें और समय पर निराकरण कराना सुनिश्चित करें।

आज की जनसुनवाई में कलेक्टर डॉ.श्रीनिवास शर्मा ने फसल खराब होने पर मुआवजा दिलाने, नामांतरण, बटवारा, सीमांकन, आवास कुटीर, राशन कार्ड, स्वास्थ्य, शिक्षा, बिजली आदि से संबंधित अनेक आवेदनों पर सुनवाई कर अधिकारियों को तय समय सीमा में निराकरण करने के निर्देश दिये।