वन परिक्षेत्र में हरे भरे जंगलों में चल रही कुल्हाड़ी

दमोह तेन्दूखेड़ा-एक और मध्यप्रदेश सरकार जंगलों को संवारने के लिए नये नित प्रयोजन कर रही है हरियाली महोत्सव का आयोजन कर रही है जिसमें करोड़ों रुपए खर्च कर पौधरोपण करा रही है उनके देखरेख पर लाखों रुपए फूंक रही है दूसरी ओर हरे भरे जंगलों में वृक्षों पर

बेखौफ अनाधुंध कुल्हाड़ी चलाई जा रही है वन परिक्षेत्र तेन्दूखेड़ा में चारों ओर वृक्षों की अवैध कटाई जोरों पर चल रही है इसी तरह का मामला खकरिया वीट का हैं जहां पर वन माफिया द्वारा रात समय  10 से 20 पेड़ काटी गई है ।वन परिक्षेत्र के अधिकारी मूकदर्शक बने हुए हैं

इनकी मिली भगत से कीमती वृक्षों पर कुल्हाड़ी से प्रहार हो रहा है सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार तेन्दूखेड़ा  के पास के जंगल के वीटो में से प्रतिदिन रात के समय पांच से दस बैल गाड़ी जंगल से लकड़ी काटी जा रही है साथ में कीमती सागौन के वृक्षों की कटाई कराये जाने

की खबरें आ रही है वनपरिक्षेत्र में वन माफिया सक्रिय होने की खबर आ रही है वन परिक्षेत्र का जंगल तेन्दूखेड़ा सीमा से लगा हुआ है विगत महीनों में क्षेत्र भर में दर्जनों ईट भट्टा  का कार्य जोरों पर चल रहा है ईट पकाने में सैकड़ों पेड़ों को धराशायी कर ईट भट्टा पकाने में झोंका गया यह सब वनपरिक्षेत्र के वीटो के प्रभारियों की मिलीभगत से जोरों पर चल रहा।

तेन्दूखेड़ा रेंजर निरंजन सिंह लोधी का कहना है  कि में  कर्मचारी को भेज कर जानकारी लेता हूँ तेन्दूखेड़ा से विशाल रजक