निताइ ग्रुप का शिक्षक प्रशिक्षण कार्यशाला सम्पन्न

दमोह-निताइ ग्रुप द्वारा ग्रुप के किल्लाई नाका स्थित  जिला कार्यालय में एक विशेष शिक्षक प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन ग्रुप के चेयरमैन अमोल पटेल के मार्गदर्शन में किया गया पटेल ने कार्यक्रम में उपस्थित समस्त शिक्षको को शिक्षा स्तर में सुधार लाने हेतु अनेक विधियों के बारे में अवगत कराया उन्होंने गुरूकुल शिक्षा पद्धति को आज की शिक्षा पद्धति के साथ जोड़कर  सुधार लाने हेतु कहा गुरुकुल में हमारे गुरु को बहुत ज्यादा महत्व दिया जाता था और उनके द्वारा मांगी हुई गुरु दक्षिना शिष्य हर हालात में देता था क्योंकि हमारे देश में शुरू से ही गुरु को महान माना जाता है और गुरुकुल में गुरु से लेकर हर रिश्ते का सम्मान और आदर करना सिखाया जाता था जिससे वह अपने जीवन में ज्ञानवान और संस्कार युक्त होता था इसलिए हम कह सकते हैं,हमारे भारत देश में गुरुकुल एक इंसान को संस्कारयुक्त और ज्ञानवान बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते थे इसलिए हमें कही न कही गुरूकुल शिक्षा पद्धति को साथ लेकर चलना होगा ।

ग्रुप के सी.ई.ओ. उमर खैय्याम जी ने कहा आज के दिन में ज्यादातर लोग शिक्षा का मतलब नौकरी पाना समझते हैं परंतु अगर कोई व्यक्ति सही शिक्षा प्राप्त करें तो वह दुनिया की हर ऊंचाई पर पहुंच सकता है। हम युवाओं को हमेशा बड़ा सोचना चाहिए – नौकरी पाना नहीं,नौकरी देने की सोच रखना चाहिए। जीवन में हमें हमेशा बड़ी सोच रखना चाहिए क्योंकि अगर हम सोचेंगे ही नहीं तो पाएंगे कैसे? हमेशा हमें अपने लक्ष्य को स्पष्ट रखना चाहिए इससे आप अपने  निर्धारित किए हुए लक्ष्य के अनुसार शिक्षा प्राप्त करना चाहिए ।

ग्रुप के सलाहकार राजेश पटेल जी ने कहा कि हम सभी अपने बच्चों को सफलता की ओर जाते हुए देखना चाहते हैं, जो केवल अच्छी और उचित शिक्षा के माध्यम से ही संभव है

इस कार्यक्रम में  ग्रुप के  रत्नेस्वर ठाकुर , प्रहलाद पटेल , सुनील पटेल ,सतेंद्र बाल्मीक  विश्वनाथ बंसल   ,विनय चौधरी ,

श्रीमति रितु दवे ,कु रुचि सोनी ,कु रैना सोनी  मिश्रा ,कु .स्वपनिल सिंग , कु रोही जैन, प्रीति गुप्ता , पार्वती ठाकुर , रोशनी जैन , शुभांगी मिश्रा ,सुशीला ठाकुर ,पूजा , सोनम सिंग राजपूत , शिवानी विदोलया , आयशा,नेहा ठाकुर  खान ,आशरा भारती, मोनिका रजक  , विनीता यादव ,दीपशिखा सोलंकी, प्रीति गुप्ता , कविता, मनीषा राज ,रचना विश्वकर्मा  साहू ,भारती ठाकुर, आदि की उपस्थिति रही ।