नौरादेही अभ्यारण्य  में हरे भरे सागौन के वृक्षों पर अवैध कटाई

नौरादेही अभ्यारण्य  में हरे भरे सागौन के वृक्षों पर अवैध कटाई
—————————————-
 दमोह-तारादेही तेन्दूखेड़ा ! इन दिनों नौरादेही अभ्यारण्य के सर्रा वन परिक्षेत्र के आसपास की बीट में सक्रिय वन माफियाओं द्वारा बड़े पैमाने पर पेंड़ो की कटाई कर जंगलों का सफाया किया जा रहा है मिली जानकारी के अनुसार जंगलों में वनकर्मियों के गैरजिम्मेदाराना रवैया के फयदा उठाकर वन माफिया खुलेआम हरे भरे पेडों का कत्लेआम कर रहे हैं जंगलों से भारी मात्रा में अवैध कटाई कर परिवहन कर आसपास के इलाकों में लकड़ी पंहुचाई जा रही है गौरतलब है की वन विभाग द्वारा साठगांठ से लोगों एक मोटी रकम ली जा रही है वन विभाग के अधिकारी अंजान बन बैठे हैं बताया गया है बीते कई वर्षों से इस क्षेत्र में हो रही लगातार

कटाई से जंगल मैदानों में तब्दील हो रहे हैं एवं सागर नरसिंहपुर दमोह की सीमा में लगा होने के कारण वन माफिया इन जंगलों की लकड़ी बाहर सप्लाई बेरोकटोक कर रहे है जिस और वन विभाग नौरादेही अभ्यारण्य मौन बैठा हुआ है महाराजपुर देवरी के मुख्य मार्ग पर पेडों के सेकड़ों कटे ठूंठ जंगलों के विनाश की कहानी बयान कर रहे हैं


—————————————-
वन परिक्षेत्र अधिकारी खुद को बता रहे मामले से अंजान
—————————————-
तेन्दूखेड़ा नगर से 30 किमी दूर नौरादेही अभ्यारण्य के आने वाले सर्रा वन परिक्षेत्र की झमरा बीट से एक किमी दूर पीपरा चौकी के पास सागौन की अवैध कटाई किया जाना सामने आया है मामले में बताया गया है कि रविवार सोमवार मंगलवार की रात सागौन की कटाई की गई है लेकिन वन विभाग इस अवैध कटाई पर अंकुश नहीं लगा पा रहे हैं
—————————————-
सूचना देने वाले से वन रक्षक करते हैं पेडों कटाने की पूछताछ
—————————————-
जब इस बात की जानकारी सारसबगली प्रतिनिधि द्वारा बीट में पदस्थ वन रक्षक त्रिवेद सिंह लोधी ठाकुर को मोबाइल पर दी थी वन रक्षक द्वारा उन्हें जानकारी का धन्यवाद तो नहीं दिया गया बल्कि सूचना देने वाले से कहा कि तुम्हें हमसे पहले जानकारी लग गई है तो इसका मतलब तुमने ही पेड़ काटा होगा इसके अलावा भी वनरक्षक ने सूचना देने वाले से अभद्रता की मामले की जानकारी सूचनादाता ने वनरक्षक द्वारा गलत जवाब देने पर वन परिक्षेत्र अधिकारी को दी

—————————————-
इस तरह तेन्दूखेड़ा वन परिक्षेत्र के खकरिया बीट में जमकर अवैध तरीकें से जंगलों की कटाई की जा रही है फिर भी यहां का वन विभाग शांत बैठा हुआ है स्थानीय लोगों का आरोप है कि वनकर्मियों की मिलीभगत से जंगलों में बड़े पैमाने पर कटाई हो रही है वन विभाग द्वारा कोई भी कार्यवाही न करना इन पर सवालिया निशान लगा रहा है
—————————————-
इस संबंध में सर्रा वन परिक्षेत्र अधिकारी का कहना।
—————————————-
इस संबंध में सर्रा रेंजर एमडी गबले ने कहा कि मेरे संज्ञान में बात डिप्टी रेंजर द्वारा द्वारा लाई गई है जो वन विभाग का सहयोग करते हैं उनका भी हमें सहयोग करना चाहिए वनरक्षक ने गलत तरीके से सहयोगकर्ता से बात की है हम वनरक्षक को बुलाकर फटकार लगाएंगे साथ ही उन्होंने कहा कि जो भी पेड़काटे गये है उसकी जांच की जा रही है

(विशाल रजक )