तेज रफतार बस ने बुझा दिया गरीब परिवार का चिराग

12 बर्षीय बालक की घटना स्थल पर मौत
तेन्दूखेड़ा[चेतन जैन] जबलपुर पाटन रहली मार्ग का अभी हाल मे ही निर्माण हुआ जिसमे दुर्घटनाओ की संख्या बढ़ती जा रही है। रोड नया होने के कारण वाहन चालक तेज रफतार मे बाहन चला रहे है। तेन्दूखेड़ा से एक किलोमीटर दूर तहसील कार्यालय के सामने की मोड़ पर तेन्दूखेड़ा से बारात छोड़कर जा रही नवयुग ट्रेवल्स की वस क्रमांक एमपी 34 पी 4025 ने वार्ड क्रमांक 12 मे रहने वाले दीपक झारिया पिता धनीराम झारिया उम्र 12 को रौद दिया जिसकी घटना स्थल पर मौत हो गयीं। प्राप्त जानकारी अनुसार दीपक दोपहर तक घर मे रहा फिर वह अपने दोस्तो के साथ खेरमाता घूमने के लिए साईकिल से चला गया वहां से साईकिल से लोटते बक्त करीब 04 बजे तेन्दूखेड़ा से आ रही बस उसको रोदते हुये उपर से निकल गयी जिसकी घटना स्थल पर ही मौत हो बाहन चालक मौके से भाग निकला। पुलिस ने बस को थाने मे जप्त कर वाहन चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर विवेचना कर रही है। पोस्टमार्टम के वाद शव परिजनो को सौप दिया।

पति का दुख भूल नही पायी और हो गया यह हादसा बालक का परिवार नगर के वार्ड क्रमांक 12 मे निवास करता था बालक के पिता को टीबी की बीमारी के चलते 6 माह पूर्व निधन हो गया था परिवार मे मां के साथ निवास करता था। मां के द्वारा बीड़ी बनाकर परिवार का भरण पोषण किया जाता है। पिता के मृत्यु को मां भुला नही सकी थी। कि इस घटना से उस पर दुखो का पहाड टूट गया।
बुझ गया गरीब परिवार का चिराग
पिता के जाने के बाद एक वेटा ही था जिस पर मां को सहारा मिलता लेकिन शायद भगवान को यह मंजूर नहीं था गरीबी के इस हालात मे सड़क हादसे से रोती विखलती रही और कहती रही कि मेरे परिवार का चिराग बुझ गया। भगवान ने मेरे साथ अन्याय किया है।
एसडीएम ने की 15000 की सहायता राषि की स्वीकृती घटना तहसील कार्यालय के सामने हो से मौका पर तहसीलदार नंद लाल सिंह घटना स्थल पर पहुचे घटना की जानकारी एसडीएम को दी गयी जिस पर एसडीएम व्रजेन्द्र रावत ने तहसील दार को निर्देष दिया कि पंचनामा तैयार कर प्रकरण तैयार करे। एसडीएम ब्रजेन्द्र रावत ने कहा कि जानकारी प्राप्त हुयी थी कि परिवार की आर्थिक स्थति ठीक नही है जिस प्रकरण तैयार कर कलेक्टर महोदय को प्रेषित कर 15000 की राशी एक सप्ताह मे खाते मे जमा करायी जायेगी।