वन अधिकार समिति, तेदूखेडा का पेलम,पेल, अजब तमासा गजब का खेल ।

नोहटा{ हरिशंकर राठौर} उपखंड स्तरीय वन अधिकार समिति, तेदूखेडा, ब्लाक जबेरा की ग्रामपंचायत मुडारी के ग्राम दुनाव कंचनपुरी पटना दुर्ग के अंतर्गत वन परिछेत्र तेजगढ वीट भैसखार पी,एफ, 119 पटवारी हल्का 15 की वन भूमि पर विगत 80 वर्षो से दलित परिवार कब्जा कर कृषि कार्य कर रहे है ,कब्जा धारियो ने अनुसूचित जनजाति ओर अन्य परम्परागत वन निवासी वन अधिकारो की मान्यता नियम 2008 के तहत वन भूमि दावा फार्म भरे ओर ग्राम वन अधिकार समिति पटनादुर्ग ने दिनाक 14/04/2008 को ग्रामसभा मै 32 हितग्राहियो के आवेदन फार्म जमा किये गये

ओर ग्रामसभा प्रस्ताव मै सम्मलित कर उपखंडस्तरीय वन अधिकार समिति तेदूखेडा जिला दमोह के पास भेजे जिसका पुनः परीछण 15-08-2016 को ग्रामसभा मै किया गया जिसमे उल्लेख किया गया कि (1) परमलाल पिता धाधूराम बसोर (2) मम्ता बाई पति रघुनाथ बसोर (3) खिलौनाबाई पति बेबा धाधूराम बसोर (4) रज्जी बाई पति कल्यान बसोर (5) इमरत पिता धाधूराम बसोर (6) बाबूलाल पिता करनजू बसोर (7) तंसा पिता बाबू लाल बसोर (8) शिवलाल पिता पिता रघुनाथ बसोर जो बर्तमान मै उक्त वन भूमि पर कब्जा कर कृषि कार्य कर रहे है ओर वही पर निवास कर रहे है ग्राम के बुजोर्गो ने भी प्रमाणित कियाहै कि इन लोगो का कब्जा 75 वर्ष पूर्ब से चला आ रहा है , जिसमे (1), शिवराज पित जुग्गा उम्र 75 (2) प्रेम सीग पिता बसोरी उम्र 85 वर्ष (3) रत्नू सीग पिता हिम्मत सीग लोधी उम्र 95 वर्ष (4) जमना बाई पति रत्तू सीगं लोधी उम्र 90 वर्ष ने भी हस्ताछर अंगूठा कर प्रमाणित किया गया है दिनाक 15-08-2016 पुनःपरीछण कर उपखंडस्तरीय वन अधिकार समिति, तेदूखेडा जिला दमोह के पास ग्राम सभा प्रस्ताव डलवाकर भेजा गया लेकिन आज दिनाक तक हितग्राहियो को कोई जानकारी नही दी गयी की क्या कार्यवाही हुई अब आवेदक 16-05-2017 को एकता परिषद द्वारा आयोजित जिला स्तरीय संवाद महापंचायत मे उक्त मुद्दे को उठाया जायेगा तथा शासन प्रशासन के साथ साथ मुख्यमंत्री जी के संग्यान मै लाया जायेगा ।।