ये कैसी परीक्षा, एक ही टेविल बैठकर दो परीक्षार्थी दे रहे परीक्षा

नकल के लिए विवादित नोहटा भोज मुक्त परीक्षा केंद्र बदला लेकिन नकल माफिया की व्यवस्था जस की तस 2 मई से शुरू हुई भोजमुक्त परीक्षा केंद्र बम्होरी(माला) में खुले आम हो रही नकल ,
बनवार{ओमप्रकाश शर्मा }जिले में इस वार भोजमुक्त यूनिवर्सिटी की परीक्षा केंद्रों में  नकल करवाने के लिए ठेके पर सक्रिय नकल माफिया के नोहटा परीक्षा केंद्र को बदलकर स्कूल शिक्षा विभाग के बम्होरी(माला)हाई स्कूल को परीक्षा केंद्र बनाया गया जिसमें दो में से शुरू हुई दो पाली सुबह 9 से 12 व दोपहर 3 से 6 की बीएससी बीए की प्रथम द्वितीय व फाइनल की परीक्षा में नकल माफिया का कब्जा बना हुआ है  खुल्लम खुल्ला नकल करवाने मामला सामने आया है जिसमे जिले भर से व समीपी जिले से आठ सौ से अधिक परीक्षार्थी से नकल के लिए अध्ययन केंद्र नोहटा में लाखों का कलेक्शन करवाकर विगत वर्ष नकल के चलते नोहटा परीक्षा केंद्र में सक्रिय नकल माफिया को जमींदोज करने के लिए नोहटा भोजमुक्त परीक्षा केंद्र के कुछ पेपर होने के बाद परीक्षा केंद्र नोहटा में नकल करवाने के सामूहिक मामले सामने आने की बजह से परीक्षा दमोह पीजी कालेज से करवाई गई थी और नकल माफिया का ठेके पर नकल करवाने का गोरख धंधा चोपट होने की बजह से इस वार नकल माफिया ने एक स्थानीय नेता से सांड गांड करके साइड कट के दूरस्थ गांव बम्होरी (माला)हाई स्कूल में परीक्षा सम्पन्न करवाने की सुविधा नही होने के वावजूद अनुसंशा करवाकर परीक्षा केंद्र स्वीकृत करवा लिया और पुनः नकल के लिए ठेके पर परीक्षा करवाने का गोरख धंधा शुरू कर दिया जवकि बम्होरी तक पहुंचने में परीक्षार्थियों को ना तो कोई स्थाई साधन ना परीक्षा केंद्र बनाए जाने के निर्धारित मापदंड पूरे कर रहा है,वावजूद इसके विगत वर्ष भोजमुक्त परीक्षा में ठेके पर नकल करवाने की बात ना तो प्रशासन से ओर नही जनप्रतिनिधि से   से छुपी है,वावजूद इसके नकल रोकने के लिए भोजमुक्त परीक्षा में विभागीय अधिकारी व प्रशानिक अधिकारी गंभीर नही है|

जिसके चलते उच्च शिक्षा जैसी परीक्षा में खुले आम नकल करवाने का अवैध कार्ये वे रोक टोक जारी है  और नकल के लिए चर्चित भोजमुक्त यूनिवर्सिटी का परीक्षा के केंद्र में 2 मई से 16 जून तक चलने वाली इस परीक्षा में तीनों क्लास के 9 पेपर होने के बाद भी केंद्र का किसी प्रशानिक अधिकारी ने निरीक्षण नही किया है जिसके चलते परीक्षा के प्रथम दिन दो मई से परीक्षा केंद्र में परीक्षा के लिए शासन के दोवारा निर्धारित नियम कायदों की खुले आम धज्जियां उड़ाई जा रही जिसमे परीक्षा केंद्र में ना तो परीक्षार्थी को उसके रोल न0 पर बिठाया जा रहा है और एक डिस्क पर दो दो परीक्षार्थी बैठकर पूरी सुविधा के साथ नकल से एक दूसरे का पर्चा हल करते दिख रहे वही पर्यवेक्षकों का परिचय पत्र व विवरण परीक्षा केंद्र में नही होने की बजह से अपनी सुविधा के साथ केंद्र में इंटर करके परीक्षा दे रहे नाते रिस्तेदारों को जमकर नकल करवाई जा रही है ,जब हमने परीक्षा केंद्र निरीक्षण किया तो पर्यवेक्षक के पास परियच पत्र नही था  ओर अधिकांश परीक्षार्थी आपने रोल न0 से हटकर विना एक सीट पर दो दो परीक्षार्थी एक साथ बैठकर परीक्षा देते पाए गए वही केंद्र के प्रवेश दरवाजे के पास नकल करवाने वालो की भीड़ जमा पाई गई 
केंद्र अध्यक्ष ललित रैकवार का कहना है को अचानक से बम्होरी हाई स्कूल को भोजमुक्त परीक्षा का सेंटर बना दिया गया जिसकी बजह से पहले पेपर में यह स्तिथि निर्मित हुई कि अधिक संख्या में आये परीक्षार्थी की बैठक व्यवस्था पर्याप्त नही थी इस लिए एक सीट पर दो दो परीक्षार्थी बिठाने पड़े अब व्यवस्था बदल दी गई और एक सीट पर एक ही परीक्षार्थी बिठाया जा रहा जहां तक पर्यवेक्षक के परिचय पत्र लटकाकर परीक्षा लेने का नियम नही है,,