बम्होरी भोजमुक्त यूनिवर्सिटी की परीक्षा खुलेआम हो रही नकल,

एसडीओपी तेंदूखेड़ा ने किया पुलिस बल के साथ औचक निरक्षण तीन कमरों में नकल करते पकड़े गए 7 नलची केंद्र अध्यक्ष से कहकर भरवाए गए नकल प्रकरण के फॉर्म ,
2 मई से 16 जून तक चलने वाली परीक्षा बीएससी बीए प्रथम द्वितीय फायनल के 65 में 9 मई तक दो पालियों में हुए 11 पेपर,
बनवार/बम्होरी{ मनोहर शर्मा } जिले के नोहटा अध्ययन केंद्र की भोजमुक्त यूनिवर्सिटी परीक्षा के केंद्र बम्होरी (माला)में ठेके पर नकल कराई जा रही है,जिले के हिंडोरिया,बम्होरी तेंदूखेड़ा ओर पूरा बैरागढ़ के सरकारी स्कूलों में 2 मई से 16 जून तक बीएससी बीए,प्रथम द्वितीय तृतीय के विषय के 65 पेपर की परीक्षा सुबह व शाम की पाली में होना है जिसके चलते 9 मई को बीएससी प्रथम क्लास के केमिस्ट्री के पेपर मैं सुबह 9 बजकर 30 मिनिट पर तेंदूखेड़ा एसडीओपी के सी पाली पुलिस बल के साथ भोजमुक्त यूनिवर्सिटी परीक्षा केंद्र के औचक निरीक्षण पर पहुंचे भोजमुक्त परीक्षा में खुले आम नकल होने के हालत देखकर हैरत में पड़ गए और चार कमरों में बैठे 75 परीक्षार्थी को पर्यवेक्षकों की उपस्तिथि सामूहिक नकल करते देखा गया जिसको रोकने व नकल को छुपाने के लिए केंद्राध्यक्ष पर्यवेक्षक अचानक से भागमभाग मच गई लेकिन परीक्षार्थी सबसे के पास गाइड कितावें ओर चुटके होने की बजह से एसडीओपी के सी पाली व पुलिस वल में शामिल निरीक्षक इंद्रभान पांडे प्रधान आरक्षक अशोक पांडे आरक्षक लक्ष्मण पटेल मंदिवालेपा अन्ना एक व दो कमरों से परीक्षार्थी के पास से नकल पकड़वाने के चुटके गाइड कितावें पकड़ी ओर केंद्राध्यक्ष ललित रैकवार ने बोलकर 7 परीक्षार्थी रोल न,(1)16130909058,(2)9040,(3)9051,(4)9030,(5)9074,(6)9036,(7)9049,, नकल प्रकरण दर्ज किए गए,
सहायक केंद्र अध्यक्ष नदारत,परिचित को परीक्षा देने आए शिक्षक बने पर्यवेक्षक|

भोजमुक्त परीक्षा केंद्र के सहायक केंद्र अध्यक्ष परीक्षा केंद्र से बीएससी प्रथम केमेस्ट्री के पेपर से एसडीओपी के निरीक्षण के दौरान नदारत पाए गए वही जनपद मुख्यालय सहित जिले के 30 ,40 कि, मी, की दूरी से आपने परिचितों को परीक्षा दिलाने आये शिक्षकों को केंद्र अध्यक्ष ने पर्यवेक्षक बना कर खुलेआम नकल करने की छूट देने का मामला सामने आया कमरा न0 3 में पर्यवेक्षक राजकुमार विश्वकर्मा जो जबेरा से 7 किमी की दूरी वाले गांव करन पूरा माध्यमिक शाला पदस्थ है लेकिन आपने परिचितों को भोजमुक्त परीक्षा दिलाने के लिए साथ आये थे जिनको केंद्राध्यक्ष ने पर्यवेक्षक बना दिया और कमरे की प्रथम सीट लेकर पूरी परीक्षा हॉल में नकल करवाने की बजह से 4 नकल प्रकरण बने,ओर कमरों में खुलेआम नकल करवाने में पर्यवेक्षक ही सहयोग करवाते दिखे ,गौरतलब हो कि सामूहिक नकल के लिए ठेके लेने वाला चर्चित नोहटा भोजमुक्त यूनिवर्सिटी अध्ययन केंद्र की परीक्षा केंद्र बम्होरी हाई स्कूल को बनाया गया है जहां पर नकल माफिया परीक्षा केंद्र में खुलेआम नकल करवाने का गोरख धंधा चल रहा है,
एसडीओपी के,सी,पाली का कहना है कि भोजमुक्त यूनवर्सिटी परीक्षा केंद्र बम्होरी (माला)के हर परीक्षा कमरा में नकल करवाई जा रही और नकल रोकने के लिए तैनात परीक्षा में पर्यवेक्षक केंद्र अध्यक्ष मूक दर्शक बने हुए जब हमने परीक्षा केंद्र का निरीक्षण किया तो चार हाल में संचालित परीक्षा में बैठे 75 परीक्षार्थियों में 7 परीक्षार्थी नकल करते पकड़े गए जिनका नकल प्रकरण केंद्राध्यक्ष से बोलकर बनवाया गया है,
भोजमुक्त यूनिवर्सिटी परीक्षा केंद्र अध्यक्ष बम्होरी (माला) ललित रैकवार का कहना है कि बम्होरी हाई स्कूल को भोजमुक्त यूनिवर्सिटी का परीक्षा केंद्र जबरन का बना दिया जहां पर परीक्षा केंद्र की सुविधा भी नही ओर परीक्षार्थी जबरजस्ती परीक्षा में नकल करते है पर्यवेक्षक व केंद्र अध्यक्ष नकल रोकने का प्रयास करते है तो रोब दिखाते है सुरक्षा व्यवस्था के लिये पुलिस वल के लिए एक मात्र नगर सैनिक दिया गया जो नकल करवाने वालो की भीड़ जमा होने पर रोकने सक्षम तक नही वही बीए बीएससी की फायनल परीक्षा में पांच सौ से अधिक परीक्षार्थी जो जोर जवारजस्ती करके नकल करते है इन हालातों में में क्या करूँ,,