पेट्रोल पंप प्रवंधन की मनमानी से, दम तोड़ रहा नो हेलमेट नो पेट्रोल अभियान

ग्राहको ने कम पेट्रोल डीजल देने के लगाए आरोप
तेन्दूखेड़ा[चेतन जैन] सेव लाइफ सेव ड्राइव अभियान के तहत दुर्घटनाओ को अंकुश लगाने के लिए दो पहिया वाहन चालको को हेलमेट पहनने के लिए शुरू किया नो हेलमेट नो पेट्रोल अभियान अब दम तोड़ने लगा है। पुलिस प्रषासन के निर्देष जारी किये जाने के बाद भी नगर के पेट्रोल पंप सुविधा किसान सेवा केन्द्र के द्वारा नियमो की खुले आम धज्जिया उड़ाई जा रही है नियमो पर अमल न करके अपने धंधे को तरहीज दे रहे है।
आज तक चेक नही हुयी सीसीटीव्ही फुटेज
सड़क हादसो मे कमी एवं दुर्घटना मे मौत के प्रतिशत को कम करने के लिए शासन के द्वारा नो हेलमेट नो पेट्रोल अभियान का निर्देष सभी पेट्रोल पंप प्रवंधन को दिया गया था प्रशासन द्वारा निर्देष मे साफ कहा गया था की बीच बीच मे सीसीटीव्ही फुटेज की जांच की जायेगी विना हेलमेट पेट्रोल देने की बात सामने आने पर पंप प्रवंधन के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी लेकिन प्रशासन के द्वारा आज तक सीसीटीव्ही फुटेज चेक नही किये गये। प्रषासन को ढीला देखकर पंप प्रवंधन ने हेलमेट पर ध्यान देना ही छोड़ दिया।

पंप पर नही लगी की सूचना
प्रषासन के आदेष की बाद विना हेलमेट के धड़ल्ले से पेट्रोल का व्यवसाय किया जा रहा है। पंप प्रवंधन के द्वारा शासन के आदेश के वाद भी नगर के सुविधा किसान सेवा केन्द्र प्रट्रोल पंप पर कोई ऐसी सूचना नही लगी कि विना हेलमेट के प्रट्रोल नही दिया जायेगा। शायद प्रषासन के द्वारा कार्यवाही न किये जाने के कारण पंप प्रवंधन के होसले बुलंद है।

पंप पर कम मिलता है पेट्रोल-डीजल
खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के द्वारा स्पष्ट निर्देष है कि यदि आपको नाप मे शंका होने पर उपभोक्ता की सुविधा हेतु पंप संस्थान के द्वारा पंप पर रखे प्रमाणित माप से जांच कर सकता है लेकिन पंप प्रवंधन के द्वारा ऐसा करने से मना कर दिया जाता है। नगर के वाहन मालिक रत्नेष जैन, रघुवीर सिंह ठाकुर, अजित जैन, धर्मेन्द्र रैकवार, विजय साहू, अंकित केवट आदि लोगो का कहना है कि नगर मे केवल एक ही पेट्रोल पंप है जिससे पंप प्रवंधन के द्वारा मनमानी कर व्यवसाय किया जा रहा है एवं वाहन चालको की पेट्रोल एवं डीजल कम देना एवं पंप के कर्मचारियो के द्वारा ग्राहको से ठीक से बर्ताव नही करने के कारण कई बार पंप पर नोकझोक एवं लड़ाई होना आम बात हो गयी है। कई बार पंप पर केवल खास लोगो को पेट्रोल डीजल दिया जा है आम ग्राहको को पेट्रोल डीजन नही मिलने 25 किलोमीटर दूर झलौन, तेजगढ, पाटन पेट्रोल डीजल डलवाने के लिए जाना पड़ता है। नगर के वाहन मालिको का मांग है कि खाद्य आपूर्ति विभाग के द्वारा पंप की जांच की जाना चाहिये। अनुविभागीय अधिकारी पुलिस तेन्दूखेड़ा का कहना हैपेट्रोल पंप पर नो हेलमेट नो पेट्रोल की सूचना नही लगी है तो वह पंप प्रवंधन के द्वारा लगवायी जायेगी। यदि पेट्रोल पंप प्रबंधन के द्वारा शासन के निर्देषे का उलघ्घन किया जा रहा है तो उनके खिलाफ कार्यवाही की जाऐगी।