uddhaatan se pahale hee bah gaya baandh, mukhyamantree aaj udghaatan karane vaale the

उद्धाटन से पहले ही बह गया बांध, मुख्यमंत्री आज उद्घाटन करने वाले थे

नईदिल्ली -भ्रष्टाचार किस हद तक हावी है इसका उदाहरण बिहार सरकार द्वारा भागलपुर से कहलगांव में 40 साल से बन रहा नया बांध उद्घाटन से पहले ही बह गया, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज इसका उद्घाटन करने वाले थे लेकिन अब बांध बह जाने के कारण वह नहीं जाएंगे क्योंकि अब जब बांध ही नहीं है तो वहां किस चीज का उद्घाटन करेंगे बांध की परियोजना 40 साल से तैयार हो रही थी, परंतु बांध निर्माण की एक दीवार कहलगांव के NTPC के पास टूट गई जिससे आसपास के इलाकों में पानी फैल गया ,यह घटना राज्य सरकार के लिए काफी परेशानी का सबब बन सकती है मीडिया रिपोर्टों की माने तो  लिए जब नहर में पानी छोड़ा गया था तो कई जगह लीकेज देखने को मिले थे जिसकी वजह से परियोजना से जुड़े लोगों में हड़कंप मचा परंतु उसको दबा दिया गया उसे ठीक करने की कोशिश की मगर वह ठीक नहीं हो पाया और नहर का बांध आखिरकार बह गया टूट गया |

बांध के टूटने से कहलगांव में बाढ़ जैसा नजारा देखने को मिल रहा है वही बचाव टीम जुटी हुई है ये बांध 800 करोड़ रुपए से अधिक की लागत का बताया जाता है इसके टूटने से कई इलाकों में गंगा का पानी घुस गया है क्योंकि इस बांध को गंगा पंप नहर योजना के तहत तैयार किया गया था|

अब बांध टूटने से विपक्षी दल नीतीश सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार का आरोप लगा रहे है |