The beginning of the demise of the country started to wail alive, to be memorable

BIGNEWS24: 247 news Latest Hindi News Headlines, Videos, World, India’s Best News Portal for Breaking News , Business, Sports, Bollywood News,Hollywood News

दमोह की शुरुवात ने देश में अलख जगाई, यादगार रहा जश्ने आज़ादी 

दमोह / मध्यप्रदेश का सबसे यादगार आयोजन जश्ने आज़ादी दमोह में अपनी पूरी गरिमा के साथ इस बार और यादगार बन गया जब नामी कलाकारों ने एक से  बढ़कर एक सदाबहार नग्मों की प्रस्तुतियां दी और लोगों को झूमने मजबूर कर दिया / टीम दमोह आयडल एवं गणेश फैंस क्लब द्वारा स्थानीय मानस भवन में आज़ादी की सालगिरह के एक दिन बाद हुए इस आयोजन में पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं दमोह सांसद प्रहलाद पटेल नगर पालिका अध्यक्ष मालती असाटी और एस पी विवेक अग्रवाल के साथ तमाम अतिथियों ने कार्यक्रम का शुभारम्भ किया

टेलीविजन के कई रियल्टी शो में अपने जोहर दिखने वाली सुरभि पांडे ने जैसे ही राष्ट्रगीत वंदे मातरम् का गायन किया पूरा हाल राष्ट्रीयता के माहौल में रंग गया / इस बार ये आयोजन देश की चार नामी हस्तियों पूर्व केंद्रीय मंत्री अनिल माधव दवे . तमिलनाडू की पूर्व मुख्यमंत्री  जे जयललिता , फिल्म स्टार विनोद खन्ना और टी वी और सिनेमा के स्टार ओम पूरी को समर्पित था / कार्यक्रम के दौरान इन चारों हस्तियों के ऊपर  एम् के जी फिल्म्स के बैनर तले बनाई गई चार शार्ट फिल्मो की शृंखला ” पथिक ” का विमोचन अतिथियों ने किया / ज्ञात हो की

विगत सात सालों से देश के स्वतन्त्रता संग्राम सैनानियों को याद करने के साथ उनके इतिहास को नई पीढ़ी को अवगत कराने के उद्देश्य को लेकर इस आयोजन की शरुवात की गई थी और पहली साल से ही पूरे देश में इस आयोजन को मीडिया के जरिये तवज्जो मिली और जिसका फल था की देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देश में आज़ादी की परवानो को याद करने के साथ तिरंगा यात्रा का आगाज किया जिसका जिक्र अपने भाषण में करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद

 

 

प्रहलाद पटेल ने कहा की दमोह की शुरुवात ने देश में अलख जगाई जिसके लिए दमोह के लोग और आयोजक साधुवाद के पात्र है / पटेल ने कहा की दमोह में देश भर में सबसे पहले यानी 175  वर्ष पूर्व अंग्रेजों के खिलाफ विद्रोह की शुरुवात हुई थी और फिर देश ने अंग्रेजों की खिलाफत की और कुछ ऐसा ही इस तरह के आयोजन में हुआ / एस पी विवेक अग्रवाल ने सम्बोधित करते हुए कहा की दमोह आने से पहले उन्होंने इस आयोजन के बारे में सूना था और आज जब उन्होंने इसमें शिरकत की तो वाकई छोटे शहर में इतना हाईटेक आयोजन देखकर वो अभिभूत है / कार्यक्रम के अगले चरण में दमोह के उन लोगों को मरणोपरांत सम्मानित किया गया जिन्होंने अपने जीवन काल में दमोह के  निर्माण और समाज को अपना अतुलनीय योगदान दिया / जिनमे मश्हूर चिकित्सक डॉ के के सचदेव , महिला जगत और धार्मिक क्षेत्र में योगदान देने वाली श्रीमती जानकी देवी राय . जिला अस्पताल के पूर्व सिविल सर्जन डॉ आर के श्रीवास्तव , पुलिस विभाग में रहते अपना योगदान समाज को देने के साथ रिटायर्ड होने के बाद जनजागृति की दिशा में योगदान देने वाले पंडित रामनाथ बिदौल्या , व्यवसाई और समाजसेवी हरिकांत टंडन बेबी भाई साहब , शहर की धार्मिक गतिविधियों के स्तम्भ सत्यनारायण चौरसिया सत्तू भैया . जिनके जाने से दमोह कला जगत में रिक्तत्ता आई ऐसे कलाकार शंकर चटर्जी , खेल जगत की जानी मानी हस्ती अमीन खान , पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष और खुद एक बेहतर सिंगर रहे यशपाल चौधरी और कला जगत का जाना मना नाम युवा विवेक सिंह चित्तू को

मरणोपरांत सम्मान देते हुए उनके परिजनों को सम्मानित किया गया / जश्ने आज़ादी के दुसरे चरण में अब तक का सबसे यादगार प्रयोग करते हुए टीम दमोह आयडल के कलाकारों शिवांश और अनिरुद्ध  ने मेडली रखी तो फिर दौर शुरू हुआ हिंदी सिनेमा के शुरुवाती दौर के गायक गायिकाओं से लेकर आज के दौर तक के कलाकारों की गीतों की प्रस्तुति और इसे टीम के महेंद्र दुबे और सुरभि पांडे ने एक एक कर आवाजें दी और हाल में मौजूद लोगों जो हूबहू उसी गायक गायिका का अंदाज सुनाया तो लोग खो गए / इसके बाद टीम के कलाकार सुप्रिया उपाध्याय . अदिति श्रीवास्तव साक्षी श्रीवास्तव शिवांश विश्वकर्मा अनिरुद्ध चौबे सुरभि पांडे और महेंद्र दुबे ने एकसे बढ़कर एक सदाबहार नग्मे प्रस्तुत किये वहीँ पूरे आयोजन का संचालन जानी मानी एंकर  साक्षी वेशम्पायन एवं मिताली खोसला ने किया / आयोजन को सफल बनाने में शहर के कलाकारों टीम दमोह आयडल गणेश फैंस क्लब लायंस क्लब  पी डी शैलार स्मृति न्यास दुर्गा प्रसाद  गौतम स्मृति न्यास लायनेस क्लब , बुंदेलखंड नवनिर्माण संघठन घंटाघर मंडली आशीर्वाद गार्डन परिवार सहित कला प्रेमियों का सराहनीय सहयोग रहा