सोशल मीडिया की अफवाह, बच्चा चोरी के शक में महिला रेंजर और कर्मचारी को गांव वालों ने पीटा ?

सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल करने के आरोप में एक पत्रकार सहित 8 पर प्रकरण

पुष्पेन्द्र वैद्य

 इंदौर-मध्यप्रदेश के सिंगरौली में सोशल मीडिया पर जारी अफवाहों के चलते शुक्रवार को मोरवा वन विभाग में पदस्थ महिला रेंजर और साथी कर्मचारी को ग्रामीणों ने घेर कर जमकर पीटा। सोशल मीडिया इन दिनों बच्चा और ऑर्गन चोर गिरोह को लेकर जबर्दस्त अफवाहें फैलायी जा रही है। इससे पहले 16 लोग इसी अफवाह के शिकार होकर पिटे जा चुके हैं। सोशल मीडिया पर अफवाह भरे मैसेजेस को फैलाने वाले एक पत्रकार सहित कुल 8 लोगों को खिलाफ प्रकरण दर्ज किया जा चुका है।

   पूर्वी मध्यप्रदेश के कई जिलों में बच्चों को चुरा कर किडनी निकालने वाले गिरोह की अफवाहों ने जोर पकड रखा है। जिले के सिंगरौली में मोरवा की फॉरेस्ट रेंजर तृस्थी सिंह अपने एक कर्मचारी ब्रजेश बागरी के साथ पौधारोपण का जायजा लेने के लिए गई थीं। रेंजर तृस्थी कुछ दिनों पहले ही इलाके में स्थानांतरित होकर आई हैं। निरीक्षण के दौरान ही मोरवा गांव के पास कुछ लोगों ने उन्हें और उनके कर्मचारी को घेर लिया। उनकी गाडी के फस्ट एड बॉक्स में एक कैंची को देखकर आदिवासियों का शक और भी गहरा गया। लोगों को लगा कि यह कैंची बच्चों की किडनी निकालने के लिए रखी है। किसी तरह महिला अधिकारी गांव वालों के चंगुल से निकली और पुलिस थाने पंहुचकर एफआईआर कराई।

  एसपी विनित जैन के मुताबिक इस बात की जांच की जा रही है कि पिटाई के पीछे कोई साजिश तो नहीं है। अफवाहों की आड में बदले लिए जाने जैसी घटनाएं भी सामने आ रही है।

 आंशका जाहिर की जा रही है कि कहीं कोल माफियाओं ने बच्चा चोरी की अफवाहों की आड में तो इस घटना को अंजाम नहीं दिया है।