पत्राचार पाठ्यक्रमों के माध्यम से टेक्निकल एजुकेशन नहीं: सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली-सुप्रीम कोर्ट ने को कहा कि तकनीकी शिक्षा की पढ़ाई कॉरेस्पॉन्डेंस के जरिए नहीं की जा सकती, यह बात कहते हुए सुप्रीम कोर्ट ने उन संस्थानों को फटकार भी लगाई जो इंजीनियरिंग जैसे कोर्स को डिस्टेंस लर्निंग से करवा रहे हैं, सुप्रीम कोर्ट ने शैक्षणिक संस्थानों से डिस्टेंस एजुकेशन मोड में इंजिनियरिंग जैसे विषयों वाले कोर्स शुरू नहीं करने को कहा है, इतना ही नहीं इस फैसले के बाद अब छात्र डिस्टेंस लर्निंग के माध्यम से एमबीए व अन्य डिग्रियां भी नहीं ले सकेंगे, इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, फार्मेसी, मेडिकल जैसे टेक्निकल कोर्स के कॉरेस्पोंडेंस से कराने पर अब कोर्ट ने रोक लगा दी है।

दो साल पहले पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से ली गई कंप्यूटर साइंस की डिग्री को रेगुलर कोर्स के जरिए ली गई कंप्यूटर साइंस के डिग्री के बराबर नहीं माना था और रेगुलर क्लास से ली गई डिग्री की अहमियत को ज्यादा माना था।