ऑटो चालक की बेटी ने जज की परीक्षा में किया टॉप

देहरादून- हौसले अगर बुलंद हों तो मंजिल कदम चूमती है, इस कहावत को साकार कर दिखाया है,देहरादून के ऑटो चालक की बेटी ने मिसाल कायम करते हुए पीसीएस (जे) पेपर में उत्तराखंड टॉप कर राज्य का मान बढ़ाया है, पूनम ने अपने सपने के साथ अपने माता-पिता का भी सपना साकार किया है,।पूनम के पिता अशोक टोडी ऑटो चलाते हैं। वह बताते हैं कि दिन का 400-500 रुपये ही कमा पाते हैं, कम आमदनी में परिवार का भरण पोषण बहुत

मुश्किल से किया, उनकी दो बेटियां और दो बेटे हैं, जिनमें उन्होंने कभी फर्क नहीं किया, उन्हें अच्छी शिक्षा देने के लिए घर के अन्य खर्चों में कटौती की,पूनम ने दिल्ली में कोचिंग ली तो इन सभी ने उनका मनोबल बढ़ाया, मन में बस यही तमन्ना थी कि पूनम जज बन जाएउनकी तीसरे नंबर की बेटी पूनम ने पीसीएस पास करके यह साबित कर दिया है बेटियां किसी से कम नहीं है, वह अपने पिता को अपना रोल मॉडल मानती है, पूनम ने बताया कि उनके पिता अशोक कुमार टोडी ऑटो चालक हैं, और 30 साल से ऑटो चलाते हैं, पूनम ने अपने पिता की मेहनत से प्रेरित होकर अपनी पढ़ाई में मन लगाया और आज उनकी मेहनत रंग लाई है, उनका कहना है पीएम मोदी जो बेटियों को पढ़ाने की बात कर रहे हैं, वह इस बात से काफी प्रभावित हैं, उनका कहना है कि बेटियों को सम्मान मिलना चाहिए |