नगर बंद कर निकाला जलूस, नगरपरिषद का घेराव किया

दमोह हिंडोरिया- पिछले दिनों घाट पिपरिया पुल की रेलिंग तोड़ते हुए नगर पंचायत हिंडोरिया की ट्रैक्टर, ट्राली दो लोगो की मौत हो जाने के इतने दिन बीत जाने के बाद भी उसकी जांच में कोई प्रगति ना होने पर हिंडोरिया वासी लामबंद होकर नगर पंचायत का संचालन करने वाले के खिलाफ नारेबाजी करते उन्हें

गिरफ्तार करने की मांग करते देखे गए, और जमकर प्रदर्शन किया प्रदर्शन के बाद घटना की मजिस्ट्रेट जांच कराने के आश्वासन पर प्रशासन द्वारा दिए जाने के बाद लोगों ने कुछ राहत की सांस ली है, नगर पंचायत के कर्मचारी चालक मोहन और सहायक चतुर पटेल की ट्रैक्टर ट्राली सहित घाट पिपरिया के पुल के

नीचे पत्थर की चट्टान गिरने से घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी परंतु कुछ समय बाद घटना के कुछ समय पहले उनकी मोबाइल पर बातचीत की रिकॉर्डिंग के दौरान ऐसा प्रतीत हुआ कि यह हादसा नहीं है सुनियोजित हत्या की आशंका

फ़ाइल फोटो

जताई गई ? इसकी पुलिस अधीक्षक से भी जांच की मांग की गई थी परंतु इतने दिनों बीत जाने के बाद भी कोई खास उपलब्धि ना होने पर हिंडोरिया वासी और परिजन रोष में थे इसलिए नाराज विरोधस्वरूप प्रदर्शन किया गया और नारेबाजी की गई सूत्रों का कहना है कि घटना क्रम में गौ तस्करी से संबंध जुड़ा हुआ है इसीलिए इसे दबाने की कोशिश की जा रही है कई लोगों ने नगर पंचायत के अध्यक्ष की चुप्पी पर भी कई सवाल उठाए हैं अब देखना होगा कि आखिर मजिस्ट्रेट जांच में क्या होता है ?