‘महिला का शरीर उसका अपना होता है, उसकी मर्जी के बिना कोई नहीं छू सकता’- कोर्ट

नई दिल्ली – महिला को उसली इजाजत के बिना नहीं छुआ जा सकता ,ये बात दिल्ली कोर्ट के न्यायाधीश मे कही, कोर्ट में कहा गया है कि किसी भी महिला को उसकी इजाजत के बिना छुआ नहीं जा सकता है, कोर्ट के द्वारा कहा गया है कि ये सभी के लिए शर्म की बात है अब भी ऐय्याश और यौन-विकृति वाले पुरुषों द्वारा महिलाओं  को परेशान करने का सिलसिला जारी है, कोर्ट ने कहा कि दूसरों को बिना महिला की इजाजत के उसे छूने की मनाही है, भले

ही यह किसी भी उद्देश्य के लिये क्यों न हो कोर्ट ने नाबालिग बच्ची के यौन उत्पीड़न मामले में फैसला सुनाते हुए कहा है कि महिला को उसकी सहमती के बिना कोई उसे छू भी नहीं सकता, इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि यह काफी दुखदाय है कि यौन- विकृति और अय्याश प्रवत्ति के पुरुषों का महिलाओं को परेशान करने का सिलसिला जारी है, एक 9 साल की बच्ची के यौन उत्पीड़न मामले में कोर्ट ने छवि राम नामक एक शख्स को दोषी ठहराते हुए 5 साल के कैद की सजा सुनाते समय यह टिप्पणी की है |
कोर्ट की अतिरिक्त सत्र जज सीमा मैनी ने यूपी के रहने वाले छवि राम को 5 साल कैद की सजा सुनाई है, कोर्ट ने कहा कि महिला को अधिकारों को कुछ पुरूष नकारते हुए अपनी हवस शांत करने के लिए बेबस लड़कियों का यौन उत्पीड़न करते समय सोचते तक नहीं हैं. इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि छवि राम एक यौन विकृतव्यक्ति है जो किसी भी तरह के छूट का हकदार नहीं है