इनकम टैक्स नहीं भरा, तो बैंकों और डाकघरों से ले सकेंगे जानकारी आयकर अधिकारी

नई दिल्ली- सरकार अब फरार आयकर डिफाल्टरों को शिकंजा कसने वाली है उन पर शीघ्र ही टैक्स चोरी की नकेल कसी जाएगी नियम में बदलाव करके यह सुनिश्चित किया गया है कि कोई भी व्यक्ति सरकार को मिलने वाली राजस्व राशि को हड़प नहीं पाएगा |

आयकर देनदारी से बच के निकलना अब मुश्किल होगा और यदि किसी भी प्रकार का गलत पता दिया तो अब उनकी मुश्किल बढ़ने वाली है सरकार ने नियम बदलकर शिकंजा कसना चालू कर दिया है जिसके अंतर्गत आयकर अधिकारी डाकघरों बैंकों नगर निकायों से और भी संबंधित जहां से पता ठिकाना मिल सकता है वहां से हासिल कर करेंगे और छूटे हुए फरार आयकर डिफाल्टरों को ढूंढ निकालेंगे वह दिए गए पते पर उनके पैन नंबर पर भी नोटिस जारी करेंगे |

पिछले कई सालों से कर दाता अपनी होशियारी से नियमों का लाभ उठाते हुए टेक्स चोरी कर रहे थे और वह अपना पता बदल लेते थे गायब हो जाते थे और आयकर विभाग के पास होने धन निकालने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं थे परंतु अब अन्य स्रोतों से भी उनका पता निकाला जा सकता है, कुछ कर दाता ऐसे भी होते हैं जिनका वास्तविक पता बदल जाता है और वो विभाग को सूचना नहीं दे देते डिफाल्टर करदाताओं के पते मतदाता पहचान पत्र आधार कार्ड और ड्राइविंग लाइसेंस से भी मालूम किए जाएंगे इससे निश्चित रुप से आयकर विभाग में राजस्व की बढ़ोतरी होगी |