If we can not stop praying on the streets, then Janmashtami can not stop in the police stations- Chief Minister Yogi Adityanath

अगर हम सड़कों पर नमाज़ नहीं रोक सकते तो थानों में जन्माष्टमी भी नहीं रोक सकते -मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 

  BIGNEWS24: 247 news Latest Hindi News Headlines, Videos, World, India’s Best News Portal for Breaking News , Business, Sports, Bollywood News,Hollywood News

   

न्यूज़ डेस्क -उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने धार्मिक स्थलों को कांवड़ यात्रा के दौरान लाउडस्पीकर DJ के इस्तेमाल पर बहुत बड़ा बयान दिया है उन्होंने कहा कि जब सड़कों पर नमाज़ पढ़ने से हम नहीं रुक सकते पुलिस थानों में जन्माष्टमी मनाने को लेकर कैसे रोक सकते हैं ? उन्होंने कहा कि अगर ईद के दिन सड़क पर नमाज पढ़ने पर रोक नहीं लग सकती, तो थानों में जन्माष्टमी मनाने पर भी रोक नहीं लग सकती, उन्होंने कावड़ यात्रा के दौरान लाउडस्पीकर बजाने की छूट की बात करते हुए कहा कि अगर रोक लगनी है तो हर धर्म स्थल पर लगे मुझे इस बात को लेकर हैरानी हो रही है कि

कांवड  के दौरान कोई माइक कोई लाउडस्पीकर नहीं बजेगा तो मैंने कहा वह कांवड़ यात्रा है या शव यात्रा आगर कांवड  यात्रा में ढोल नगाड़े संग नहीं बजेगा लोग नाचेंगे गाएंगे नहीं तो वह कांवड  यात्रा कैसी यह पर्व है हंसी खुशी खुशहाली का होता है और इसमें यदि यह सब नहीं होगा तो फिर क्या होगा                       

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के अंदर कांवड़ यात्रा के दौरान लाउडस्पीकर बजाने पर कोई प्रतिबंध नहीं लगेगा कांवड  यात्रा के दौरान हेलीकॉप्टर से फूलों की वर्षा होना चाहिए ?                      

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि हम सब के लिए कहेंगे कि आप क्रिसमस मनाइए आप को कौन रोक रहा है भारत के अंदर कभी रोका नहीं गया आप नमाज पढ़िए आराम से पढ़िए कानून के दायरे में रहकर पढ़िए कोई रोकने वाला नहीं लेकिन कानून का उल्लंघन कोई करेगा तो उस पर कहीं ना कहीं टकराव की स्थिति बनेगी देश की संस्कृति विरासत को एकजुट करने के लिए जो काम करता है वह सांप्रदायिक कहा जाने लगता है अगर मैं कहूं कि गर्व से कहो कि मैं हिंदू हूं तो कहेंगे कि सांप्रदायिक हो गया ऐसा नहीं होना चाहिए ?

मुख्यमंत्री बुधवार को लखनऊ जनसंचार एवं पत्रकारिता संस्थान व प्रेरणा जनसंचार नोएडा की ओर से दूरस्थ शिक्षा पर प्रबोधन व केशव संवाद पत्रिका के विशेषांक ‘अंत्योदय की ओर’ के लोकार्पण कार्यक्रम में बोल रहे थे। यदुवंशी कहलाने वालों ने थानों, पुलिस लाइन में जन्माष्टमी के आयोजनों पर रोक लगा दी थी। श्रीकृष्ण के नाम पर एक ही तो पर्व है। भगवान कृष्ण का कीर्तन, स्मरण करते हुए न जाने किस पर प्रभाव पड़ जाए, पुलिस की व्यवस्था में सुधार हो, इसलिए हमने भव्य आयोजन के निर्देश दिए।