हाईफाई पार्टियों में खूबसूरत लडकी कर रही थी ‘लव ड्रग’ की सप्लाय

 एसटीएफ की महिला विंग ने किया लडकी सहित तीन को किया गिरफ्तार

पुष्पेन्द्र वैद्य

इंदौर, -दुनिया भर में पार्टी ड्रग के नाम से पहचानी जाने वाली ‘लव ड्रग’ यानी एमडीएमए की सप्लाय इंदौर में धड़ल्ले से की जा रही है। पार्टियों में लडके-लडकियों के बीच प्यार और पार्टी का उत्साह बढाने के लिए इस दवा का इस्तेमाल इंदौर की हाईप्रोफाईल पार्टियों में बडे पैमाने पर किया जा रहा था। भोपाल की खूबसुरत लडकी अपने साथी के साथ तैयार किए गए एक सिंडिकेट के जरिए इंदौर में इस ड्रग की सप्लाय करती थी। मध्यप्रदेश एसटीएफ की महिला विंग ने युवा जोडे को भोपाल से जबकि एक अन्य आरोपी को इंदौर से गिरफ्तार किया है।

स्पेशल टॉस्क फोर्स की महिला विंग को बीते कई दिनों से इस बात की भनक थी कि इंदौर और भोपाल में एमडीएमए ड्रग्स की सप्लाय की जा रही है। इसमें कुछ लडकियां भी शामिल है। विंग ने अपनी तहकीकात शुरु की। पुलिस ने अपना जाल बिछाया और भोपाल के आईएसबीटी (अंतर्राज्यीय बस अड्‌डा) से 28 साल की अदिती उर्फ दीपिका दुबे और उसके 32 वर्षीय साथी जफर हुसैन को गिरफ्तार कर लिया। इंदौर से एसटीएफ ने इस गिरोह के साथी पुष्पेन्द्र सिंह को भी गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से 100 ग्राम मेथिलीनडाइओक्सिमेथाम्फेटामीन (एमडीएमए) बरामद की गई है। इस ड्रग्स को मुंबई से लाकर मध्यप्रदेश के इंदौर और भोपाल शहरों में सप्लाय की जा रही थी। मुबंई से 12 सौ रुपए प्रति ग्राम में खरीद कर 5 हजार रुपए प्रति ग्राम में बेची जा रही थी। अदिती इवेंट मैनेजमेंट की एक कंपनी चलाती है। वह पुलिस के रिटायर्ड हेड कांस्टेबल की लडकी है। एक कार्यक्रम के दौरान अदिती की मुलाकात जफर से हुई थी। बीते तीन महीनों से अदिती और जफर दोनो एक किराये का मकान लेकर साथ रह रहे थे। जफर खुद के उत्तरप्रदेश के गौंडा का रहने वाला है।

इंदौर-भोपाल में हाईप्रोफाईल युवाओं में खासकर पार्टी के दौरान इस ड्रग का चलन बढता जा रहा है। बडे घरानों के लडके-लडकियों को इस ड्रग का नशा अब अपना शिकार बना चुका है। एमडीएमए नाम की इस ड्रग की सप्लाय हुक्का लाऊंज और पार्टी के दौरान जमकर की जाती है। इसे एक्स्टसी ड्रग के अलावा एक्स, ई, एडम, मौली, हग बींस और लव ड्रग के रूप में भी जाना जाता है। यह ड्रग यूएई, येके, संयुक्त राज्य अमेरिका और मध्य पूर्व के कई देशों में बडे पैमाने पर कंज्यूम की जाती है। यह एक साइकोएक्टिव ड्रग है जो मुख्य रूप से मनोरंजक ड्रग के रूप में उपयोग की जाती है। इस ड्रग के कंज्यूम करने के बाद मन उत्साह से भर जाता है और पार्टी का मजा कई गुना बढ जाता है। फिलहाल दिल्ली, मुंबई, कलकत्ता और बेंगलोर जैसे बडे शहरों में इसकी मांग और सप्लाय का अवैध कारोबार तेज हो गया है।

एसटीएफ ने एनडीपीएस की धारा 8/21 के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है। एसटीएफ महिला विंग की इंस्पेक्टर सुनीता बघेल इस मामले में जांच कर रही है।