Flower of flowers on Lord Krishna’s celebration

hindi news portal, live breaking news ,online breaking news, hindi news portal, bllywood news, latest breaking news, hindi news headline, latest hindi news, bollywood news in hind, breaking news in hindi

भगवान कृष्ण की शोभायात्रा पर बरसे फूल
विषम परिस्थितियों में भी ऊर्जा देते हैं श्रीकृष्ण के संदेश: ललिता यादव

छतरपुर। श्रीकृष्ण जन्मोत्सव यादव महासभा द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर आज नगर में भगवान श्रीकृष्ण की भव्य शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा पर रास्ते में जगह-जगह लोगों ने फूल बरसा कर आत्मीय स्वागत किया। इस अवसर पर यादव समाज की प्रतिभाओं का सम्मान किया गया। समारोह में प्रदेश की पिछड़ा वर्ग-अल्पसंख्यक कल्याण, घुमक्कड़-अर्धघुमक्कड़ जनजाति विकास (स्वतंत्र प्रभार) एवं महिला बाल विकास राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव ने भगवान श्रीकृष्ण के संदेशों को जीवन में आत्मसात कर उन पर चलने पर जोर दिया।
शोभायात्रा का शुभारंभ मोटे के महावीर में भगवान श्रीकृष्ण व हनुमानजी की पूजा-अर्चना के साथ हुआ। तत्पश्चात मेला ग्राउण्ड में मंचीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर वृन्दावन के कलाकारों ने भगवान श्रीकृष्ण के जीवन पर केन्द्रित आकर्षक नृत्य प्रस्तुत कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। लोककलाकारों ने भी भगवान कृष्ण से संबंधित लोकगीतों से माहौल को कृष्णमय कर दिया। इस अवसर पर कार्यक्रम की संरक्षक राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव ने कहा कि भगवान कृष्ण के जीवन से हमें ऐसी शिक्षा मिलती है कि विषम परिस्थितियों में भी ऊर्जा का संचार होता है। भगवान कृष्ण का व्यक्तित्व हमें नकारात्मक से सकारात्मक की ओर ले जाता है। श्रीकृष्ण ने रिश्तों के मायाजाल को तोडक़र सत्य का साथ दिया और जीवन में कर्म को प्रधान माना। उनके जीवन से हमें मित्रता का अनूठा संदेश मिला। उन्होंने बचपन में सुदामा से मित्रता की और उसे निभाया। माता-पिता की सेवा का संदेश भी हमें उनके जीवन से मिलता है। राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव ने कहा कि भगवान कृष्ण को देवकी ने जन्म दिया लेकिन मैया यशोदा ने पाला। फिर भी श्रीकृष्ण ने दोनों माताओं को बराबर सम्मान देते हुए उनकी सेवा की। उन्होंने कहा कि भगवान कृष्ण ने हमें प्रेम का भी संदेश दिया है। गोपियों से प्रेम तो जग जाहिर है राधारानी से प्रेम कर उन्होंने प्रेम की परिभाषा ही बदल दी। श्रीमती ललिता यादव ने कहा कि इस अवसर पर आज हम सब मिलकर यह संकल्प लें कि भगवान कृष्ण के बताए रास्ते पर चलकर छतरपुर को आगे बढ़ाएंगे। यदि कोई गलत करे तो हम उसका साथ नहीं देंगे।

कार्यक्रम में यादव समाज के प्रदेश अध्यक्ष जगदीश यादव, मण्डी अध्यक्ष सुधीर यादव, सागर सांसद लक्ष्मीनारायण यादव के अलावा सभी समाजों के अध्यक्ष मौजूद थे। उन्होंने रजक समाज के सुन्दरलाल रजक, कुशवाहा समाज के पूरन कुशवाहा, बंसल समाज के राजू बंसल, अग्रवाल समाज के दीपक अग्रवाल, गहोई समाज के प्रेम रूसिया, कायस्थ समाज के अनुपम खरे, अहिरवार समाज के दिलीप अहिरवार, रैकवार समाज के दिलीप रैकवार, शिवहरे समाज के लाले शिवहरे, जैन समाज के श्रेयांश औलिया, सोनी समाज के पल्टू सोनी और लक्ष्मीनारायण सोनी, चौरसिया समाज के चंद्रशेखर चौरसिया, क्षत्रिय समाज के रवि प्रताप सिंह, ब्राह्मण समाज के अवधेश नारायण तिवारी व आनंद शर्मा, राजपूत समाज के आरडी राजपूत, यादव समाज के नारायण सिंह यादव, विश्वकर्मा समाज के पप्पू विश्वकर्मा, मुस्लिम समाज के इकराम उल्ला खान उर्फ सिट्टू भाईजान, कोरी समाज के देवेन्द्र अनुरागी, प्रजापति समाज के मुन्नीलाल प्रजापति, सिख समाज के सरदार स्वरूप सिंह, सिंधी समाज के श्याम आडवाणी, पाल समाज के राकेश पाल, असाटी समाज के चंद्रमा असाटी, नामदेव समाज के सुट्टू नामदेव, सेन समाज के रमेश वर्मा, साहू समाज के मुन्नालाल साहू के अलावा ईशानगर थाना प्रभारी अनूप यादव, भाजपा नेता जयराम चतुर्वेदी, पप्पू चौरसिया, श्रीराम गुप्ता आदि मौजूद थे। राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव ने सभी संतों तथा सभी समाज शिरोमणियों का आशीर्वाद लेकर शॉल, श्रीफल और स्मृतिचिन्ह भेंट कर उन्हें सम्मानित किया।
मेला ग्राउण्ड से शोभायात्रा प्रारंभ होकर छत्रसाल चौक, महल, चौक बाजार, हटवारा, फव्वारा चौक होते हुए बस स्टैण्ड स्थित सहम्बी मण्डपम पहुंचकर प्रतिभा सम्मान समारोह में बदल गई। रास्ते में शोभायात्रा का विभिन्न संगठनों और समाजों द्वारा आत्मीय स्वागत किया गया। जगह-जगह अनेक समाज के लोगों ने राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव का तुलादान किया। रास्ते में दही से भरी मटकियां ग्वालवालों द्वारा तोड़ी गईं। सहम्बी मण्डपम में आयोजित समारोह में यादव समाज के प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया गया। आयोजन समिति के अध्यक्ष और छतरपुर जनपद अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह यादव मोनू ने समारोह को सफल बनाने में योगदान देने पर सभी का आभार व्यक्त किया।

 

छतरपुर से प्रेम गुप्ता की रिपोर्ट