आश्रम में मिलीं लड़कियां, हो सकता है राम रहीम जैसा मामला ?

 

नई दिल्ली – दिल्ली के रोहिणी विजय विहार स्थित आध्यात्मिक विश्वविद्यालय के आश्रम में आध्यात्मिक शिक्षा देने के नाम पर किशोरी व युवतियों के साथ यौन शोषण किए जाने का मामला उजागर हुआ है, दूसरे बाबाओं की तरह खुद को भगवान का अवतार बताने वाला है दिल्ली का बाबा जिसका नाम वीरेंद्र देव दीक्षित है, दिल्ली हाई कोर्ट के निर्देश पर हाई कोर्ट की टीम ने दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर विश्वविद्यालय में छापेमारी की, हाईकोर्ट ने इस मामले में सीबीआई को विशेष जांच दल गठित कर जांच का आदेश दिया है साथ ही आश्रम में लड़कियों के साथ कथित दुष्कर्म और आत्महत्या में दर्ज सभी मामलों से जुड़े दस्तावेज जब्त करने का निर्देश दिये है, दिल्ली जैसे बड़े शहर में आस्था के नाम पर चल अय्याशी का अड्डा बना हुआ था ? नाम सिर्फ के लिए अध्यात्मिक विश्वविद्यालय परंतु बाबा की अय्याशी का गढ़, यही हकीकत जानने के लिए यहां दिल्ली पुलिस पुलिस, महिला आयोग और हाईकोर्ट की टीम पहुंचीं थी, हंगामे के बाद अब लोगों को अंदर का सच जानने के लिए बेताब है,

बुधवार को पुलिस के साथ पहुंची हाई कोर्ट की टीम ने एक दर्जन से अधिक लड़कियों को आश्रम से सुरक्षित निकाला और आश्रम से जुड़े दो लोगों को हिरासत में लिया है, पुलिस आश्रम का सिर्फ तीस फीसदी हिस्से की ही छानबीन कर पाई है , कोर्ट ने कहा कि यह मामला भी राम रहीम जैसा हो सकता है ? इसलिए तुरंत छापा मारकर कार्रवाई करने की जरूरत है |

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद की टीम ने भी छापेमारी की, उनके साथ भी आश्रम के कर्मचारियों ने बुरा व्यवहार किया। स्पेशल टीम ने हाईकोर्ट को बताया कि विश्वविद्यालय में 100 से ज्यादा लड़कियां थीं और उनमें से कई नाबालिग हैं,

युवतियों के परिजनों का आरोप है कि उन्हें युवतियों से मिलने नहीं दिया जा रहा है।