आरोप तो लगते रहते है जो कहूंगी न्यायालय में कहूंगी ,श्रुति शर्मा

 

मामला मेडिकल के छात्र यश पाठे की आत्महत्या से जुड़ा होने से बेहद गम्भीर हो गया है

बैतूल। बैतूल एसपी डीआर तेनीवार बुधवार 11बजे बैतूल के कोतवाली थाने पहुच गए है वे हाई प्रोफाइल मामले में श्रुति शर्मा और शालीन उपाध्याय से पूछताछ करने में जुट गए है ।एसपी ने दोनों आरोपियों से एक घण्टे तक पूछताछ की पहले शालीन उपाध्याय से अकेले पूछताछ की फिर श्रुति शर्मा से पूछताछ की और फिर दोनों से आमने

सामने पूछताछ की ।इधर श्रुति शर्मा ने पत्रकारों से कहा कि मुझे जो कुछ भी कहना है वह न्यायालय में ही कहूंगी आरोप तो लगते रहते है ।मामला मेडिकल के छात्र यश पाठे की आत्महत्या से जुड़ा होने से बेहद गम्भीर हो गया है ।श्रुति शर्मा विधान सभा के रिटार्यड एक बड़े अधिकारी की बेटी है ।इधर टीआई कोतवाली ने साढ़े बारह बजे दोनों आरोपी श्रुति शर्मा और शालीन उपाध्याय को बैतूल न्यायालय में पेश कर दिया ।पुलिस ने दोनों का 14 दिन का रिमांड मांगा है।


मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के एक निजी मेडिकल कॉलेज के छात्र यश पाठे की बैतूल में खुदकुशी के मामले में मुख्य आरोपी श्रुति शर्मा और उसके एक सहयोगी को बैतूल पुलिस ने महाराष्ट्र के पुणे से अपनी गिरफ्त में ले लिया है। दोनों आरोपी वारदात के सामने आने के बाद फरार हो गए थे। पुलिस को दोनों के पुणे में छिपे होने के बारे में सुराग मिले थे, जिसके बाद कल बैतूल पुलिस ने दोनों को पुणे में एक दोस्त के घर से गिरफ्तार कर लिया। मामले में दो आरोपी पहले ही पुलिस के हत्थे चढ चुके हैं। अब सिर्फ एक आरोपी फरार है। बैतूल पुलिस अधीक्षक डीआर तेनीवार ने बताया कि श्रुति शर्मा और शालीन उपाध्याय को पुणे से गिरफ्तार कर कल देर रात बैतूल लाया गया है। अभी दोनों से पूछताछ की जा रही है। भोपाल के एक मेडिकल कॉलेज के छात्र यश पाठे ने आरोपियों की प्रताड़ना से तंग आकर जून महीने में बैतूल में खुदकुशी कर ली थी। आरोप है कि आरोपी नशे के आदी हैं और मृत छात्र काे नशे की लत पूरा करने के लिए पैसे मांगते हुए प्रातड़ित करते थे। इसी प्रताड़ना से तंग आकर यश पाठे ने आत्महत्या कर ली थी। मामले में सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें एक युवती अौर दो युवक एक छात्र काे बेल्ट से बुरी तरह मार रहे थे। समझा जा रहा था कि यह वीडियो यश पाठे को प्रताड़ित करते हुए बनाया गया था, जिसमें दिख रही युवती श्रुति शर्मा ही थी। रसूखदार परिवार से ताल्लुक रखने वाली श्रुति शर्मा के पिता राजधानी भोपाल में वरिष्ठ अधिकारी रह चुके हैं। कोतवाली पुलिस सूत्रों ने बताया कि पुलिस टीम रविवार को पुणे पहुंची और खोजबीन में जुट गई थी। दो दिन की मशक्‍कत के बाद मंगलवार को कोतवाली पुलिस दोनों को खोजने में सफल हो पाई है। आत्महत्या मामले में पुलिस ने भोपाल निवासी शालीन उपाध्‍याय, गौरव दुबे, आकाश सोनी, श्रुति शर्मा और सतना निवासी कार्तिक खरे के खिलाफ धारा 306, 34 का मामला दर्ज किया है। कोतवाली पुलिस को जानकारी मिली है कि आरोपित छात्र श्रुति शर्मा के इशारे पर काम करते थे और 11 एवं 12 जून को मृतक के कमरे पर जाकर उसके साथ मारपीट भी की थी। गैंग की सरगना कॉलेज में पढ़ने आने वाले अन्य जिलों के छात्र-छात्राओं को अपना निशाना बनाती थी।

mayank bhargav