सबसे श्रेष्ठ व्रत है आज निर्जला एकादशी

साल भर में 24 एकादशी के व्रत होते हैं जिनमें आज निर्जला एकादशी का व्रत को करने से साल भर की शेष 23 एकादशी में जो पुण्य फल प्राप्त होता है वह आज की एकादशी करने से फल प्राप्त हो जाता है हिंदू मान्यताओं के अनुसार आज एकादशी का महत्वपूर्ण स्थान है इस एकादशी से आप 24 एकादशी के व्रत जैसा पुण्य कमा सकते हैं जानकार लोग बताते हैं कि गंगा दशहरा के 1 दिन बाद या निर्जला एकादशी आती है और कभी-कभी ऐसा संजोग भी होता है कि दोनों एक साथ आ जाती है, इसे निर्जला

pic google se


एकादशी को पांडव एकादशी या भीमसेनी एकादशी भी कहते हैं इस व्रत से व्यक्ति को दीर्घायु और मोक्ष की प्राप्ति होती है इस दिन लोग जल दान करते हैं लोगों को ठंडा पानी,शर्बत पिलाते हैं ऐसा बताते हैं कि ऐसा करने से स्वर्ग की प्राप्ति होती है सुबह जल्दी उठकर स्नान करने के बाद भगवान विष्णु का ध्यान करना चाहिए वह कुछ गरीबों को दान दक्षिणा भी देना चाहिए इसका बहुत ही धार्मिक पूर्ण है|