शिव भक्तो के रक्त का हुआ अपमान, विकास को लेकर शपथ ग्रहण कार्यक्रम 101 शिव भक्त लेंगे शपथ

अब ऐसे जनप्रतिनिधियों को नही चुनेगे जिन्होंने बांदकपुर का विकास नही किया

दमोह,बांदकपुर के विकास को लेकर  12 मार्च को शिव भक्तों ने अपने रक्त से लिखा था पत्र आज 11 दिन बीत जाने के बाद भी जिले के किसी भी जनप्रतिनिधि ने मामले में नही लिया संज्ञान और नहीं दिया शिव भक्तों के द्वारा रक्त से लिखे गए पत्र की ओर ध्यान

—अब शीघ्र ही होगा आसपास के ग्रामो सहित क्षेत्र  मे  होगा जन जागरण का कार्य प्राम्भ और अनेक आयोजन के माध्यम से  जनप्रतिनिधियों का ध्यान बांदकपुर की ओर आकर्षित कराने के लिए  और बांदकपुर में विकास कार्यो को लेकर शिव भक्त अभियान को आगे बढ़ाते हुए

शीघ्र ही बांदकपुर में होगा शपथ ग्रहण कार्यक्रम जिसमें बांदकपुर सहित जिले के लगभग 101 शिव भक्त प्रथम चरण में भगवान जागेश्वर नाथ जी को साक्षी मानकर सौगंध शपथ  लेंगे कि आने वाले समय में हम ऐसे जनप्रतिनिधियों को नहीं चुनेंगे जिन्होंने बांदकपुर धाम की उपेक्षा की और बांदकपुर धाम में भक्तों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं करा पाए और साथ ही 10 लोगों को यह शपथ दिलाएंगे कि आप भी अपने क्षेत्र में ऐसे जनप्रतिनिधि को न चुने  जो जन जन के हृदय में बसने वाले भगवान जागेश्वर नाथ जी के क्षेत्र का विकास नहीं करा पाए इसके साथ ही आसपास के ग्रामों में जन चौपाल जन चर्चा सुंदरकांड रामायण आदि का पाठ करके सार्वजनिक स्थलों पर घर घर जाकर जन जन को जगाया जाएगा जिसमें प्रथम चरण में ग्राम बांदकपुर से प्रारंभ होकर यह अभियान टिकरी पिपरिया, सिंगपुर ,बलारपुर ,बरखेरा, खडेरा, हलगज, हिनौता, रंजरा ,मेली ,जुझार, रियाना सलैया ,साहनी पिपरिया हरदुआ ,केवलारी ,आनू ,गूँजी बिलतरा ,बम्होरी ग्रामों में अनेक कार्यक्रम आयोजनों के माध्यम से लोगों में जन जागरण  का कार्य किया जाएगा और सभी से निवेदन किया जाएगा कि आने वाले चुनाव में ऐसे जनप्रतिनिधियों को अपने छेत्र के लिए  बिल्कुल ना चुने जो बुंदेलखंड के प्रसिद्ध हिंदू तीर्थ क्षेत्र देव श्री जागेश्वर नाथ धाम  बांदकपुर का विकास नही कर पाए यदि बांदकपुर का विकास होता है बांदकपुर आसपास के 50 ग्रामों का भी विकास हो सकता है

शिव भक्त और ग्राम बांदकपुर के युवा केवल निस्वार्थ भाव से जागेश्वर नाथ जी की सेवा में लगे हुए हैं जो केवल बांदकपुर का विकास चाहते हैं लेकिन जनप्रतिनिधियों के द्वारा शिव भक्तों की मांगों पर ध्यान ना देते हुए  मांगों को भक्तों की भावनाओं को विरोध समझा जा रहा है जनता आपको अपने क्षेत्र के विकास के लिए अपने जन प्रतिनिधि के रूप में चुनती है और अगर आप अपने क्षेत्र का विकास नहीं कर पाते तो आप को उस क्षेत्र में वोट मांगने का भी अधिकार नहीं है अगर बांदकपुर विकास नही हुआ तो आने वाले समय मे आपका कड़ा  विरोध होगा

देव श्री जागेश्वर नाथ धाम बांदकपुर की जनप्रतिनिधियों के द्वारा की जा रही उपेक्षा पर शिवभक्त शंकर गौतम की रिपोर्ट